IUI Fail Hone Ke Karan

इंट्रायूटेरिन इनसेमिनेशन यानि आई यू आई एक वर्ष के दौरान गर्भधारण करने में असमर्थ जोड़ों द्वारा पसंद किए जाने वाला प्राथमिक बांझपन उपचार है। इस प्रक्रिया को बहुत तकनीकी विशेषज्ञता की आवश्यकता नहीं होती है। इस प्रक्रिया को पूरा करने में कुछ मिनट लगते हैं और इससे ज्यादा दर्द और असुविधा नहीं होती। इस प्रक्रिया को कई स्त्री रोग विशेषज्ञ अपने क्लिनिक में भी कर सकते हैं। इसे आई वी एफ प्रक्रिया से पहले के विकल्प उपचार के रूप में प्राथमिकता दी जाती है क्योंकि यह लागत प्रभावी है।
IUI Fail Hone Ke Karan
IUI Fail Hone Ke Karan

 

आई यू आई क्या है? (IUI Kya Hai)

आई यू आई ट्रीटमेंट (IUI Treatment in Hindi) जिसे कृत्रिम गर्भधारण (Artificial Insemination) भी कहा जाता है यह प्रजनन उपचार का एक प्रकार है। IUI प्रक्रिया के दौरान पुरुष से वीर्य (Semen) का सैंपल लेकर उसे लैब में धोया जाता है।

उसके बाद सक्रिय (अच्छे) व् असक्रिय (बेकार) शुक्राणु को अलग किया जाता है। फिर निषेचन की प्रक्रिया के लिए अंडाशय में कैथेटर (जो एक विशेष लचकदार नली की तरह दिखता है) के माध्यम से महिला के गर्भाश्य के भीतर उच्च गतिशीलता वाले शुक्राणुओं को ट्रांसफर किया जाता है।

इस प्रक्रिया का उद्देश्य फैलोपियन ट्यूब तक पहुँचने वाले शुक्राणुओं की संख्या में वृद्धि करना है, जिससे उर्वरक की संभावना बढ़ जाती है। इस प्रक्रिया के लिए कुछ मिनट लगते हैं और इससे असुविधा नहीं होती है।

आई यू आई कब किया जाता है?

आई यू आई करने के लिए सबसे आम कारण है-

  • शुक्राणुओं की संख्या में अधिक कमी जिसे अंग्रेजी में Low Sperm Count कहा जाता है।
  • शुक्राणुओं की गति की समस्या जिसे अंग्रेजी में Low Sperm Motility कहते हैं। जिसमें 30-40% शुक्राणुओं की गति आई यू आई के लिए आवश्यक है।
  • बहुत मामूली-सी अंडाशय की समस्या जिसे अंग्रेजी में Mild Ovulation Problem कहते हैं।
  • अस्पष्ट प्रजनन समस्या जिसे अंग्रेजी में Unexplained Infertility कहा जाता है।

आई यू आई उपचार के साइड इफेक्ट्स

सामान्य रूप से IUI उपचार के साइड इफेक्ट्स बहुत ही कम होते हैं। आई यू आई ट्रीटमेंट के दौरान फर्टिलिटी विशेषज्ञ पहली कोशिश में आई यू आई की सफलता की दर को बढ़ाने के लिए कुछ दवाइयों की सलाह दे सकते है। यह फर्टिलिटी दवाइयां अधिक अंडों की प्राप्ति में सहयोग करती है, जिससे गर्भधारण की संभावना बढ़ सकें। कभी-कभी इन फर्टिलिटी ड्रग्स के कारण कुछ साइड इफेक्ट्स हो सकते है। हालाँकि, दवा बंद होते ही यह खत्म हो जाते हैं।

IUI उपचार के कुछ मुख्य साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं (IUI उपचार दुष्प्रभाव) -

  • मूड स्विंग और डिप्रेशन
  • घबराहट व सिरदर्द
  • एक दो दिनों के लिए हलकी ब्लड स्पॉटिंग
  • पेट दर्द या हलकी ऐंठन
  • अंडाशय में सूजन और दर्द
  • ओवेरियन हाइपरस्टीमुलेशन सिंड्रोम (OHSS)
  • इंजेक्शन की जगह के आसपास सूजन या दाने

आई यू आई ट्रीटमेंट के दौरान कोई भी असहज लक्षण विकसित होने पर हमेशा अपने डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए।

आई यू आई विफलता के कारण क्या हैं? (IUI Fail Hone Ke Karan)

आई यू आई की सफलता दर इतनी अधिक नहीं है। आई यू आई की सफलता महिला की उम्र और उस समय पर निर्भर होती है कि कब से युगल गर्भधारण करने की कोशिश कर रहा है।

अध्ययनों से पता चला है कि प्रत्येक प्राकृतिक चक्र के लिए गर्भावस्था दर लगभग 4-5% है और जब चक्र प्रजनन दवाओं के साथ उत्तेजित होता है, गर्भावस्था दर 7-16% हो जाती है।

आई यू आई सफलता का मुख्य लक्षण है महिला का गर्भधारण होना लेकिन जब आई यू आई के बाद किसी महिला का गर्भधारण नहीं होता है तो उसे आई यू आई फेलियर यानि आई यू आई विफलता के नाम से जाना जाता है। आई यू आई विफलता के कई कारण हो सकते है जिसमे से कुछ है -

  • अंडो की गुणवत्ता– खराब गुणवत्ता वाले अंडों में गुणसूत्र समस्या हो सकती है और इसलिए निषेचन के बाद विभाजित करने में असमर्थ रहेगा।
  • आयु– बढ़ती उम्र मातृ अंडे की गुणवत्ता को कम करती है।
  • शुक्राणु की गुणवत्ता– खराब गुणवत्ता के शुक्राणु अंडे को उर्वरक करने में सक्षम नहीं होंगे।
  • सही समय– अंडाशय के बाद अंडे फैलोपियन ट्यूब में 12-24 घंटे तक रहता है। अगर अंडे को उर्वरत करने के लिए उस समय कोई शुक्राणु मौजूद नहीं होता है, तो यह विघटित हो जाएगा। सही समय पर निषेचन होना आवश्यक है।
  • ओवुलेशन– ओवुलेशन भी एक समस्या हो सकती है।
  • प्रोजेस्टेरोन– प्रोजेस्टेरोन में कमी के कारण आई यू आई विफल हो सकता है क्योंकि गर्भावस्था का समर्थन करने के लिए शुरुआत में यह आवश्यक है।

आई यू आई की सफल कहानी (IUI Success Story in Hindi)

मेरी शादी को 4 साल हो गए थे लेकिन कई कोशिशों और इलाज के बाद भी मेरा माँ बनने का सपना अधूरा था। मुझे लगने लगा था की शायद अब मैं कभी माँ नहीं बन सकती हूँ। फिर एक दिन रेडियो पर मेडीकवर फर्टिलिटी क्लिनिक के बारे में सुना और अगले दिन ही मैं अपने पति के साथ वहाँ गयी। डॉक्टर से मिलकर हमने उन्हें अपनी समस्या बताई और डॉक्टर ने हमारी पूरी बात को ध्यान से सुनने के बाद कुछ टेस्ट करवाए। टेस्ट रिपोर्ट्स आने के बाद डॉक्टर ने हमें आई यू आई ट्रीटमेंट करवाने की सलाह दी और बताया की IUI को सफल बनाने के लिए कैसे मेडिकवर हमारी मदद करेगा। उसके बाद हमारा ट्रीटमेंट शुरू हुआ और पहली कोशिश में ही मेरा गर्भधारण हो गया। मैं मेडीकवर फर्टिलिटी की बहुत आभारी हूँ कि उन्होंने मेरे माँ बनने के सपने को पूरा करने में मेरी मदद की और मेरी निराशा को आशा में बदल दिया।

आई यू आई विफलता के क्या लक्षण है? (IUI Fail Hone Ke Lakshan)

असफल आई यू आई के कोई विशिष्ट लक्षण नहीं हैं। अगर अंडे और शुक्राणु की गुणवत्ता अच्छी नहीं है, तो उनके पास कुछ गुणसूत्र असामान्यता हो सकती है, जिसके परिणामस्वरूप गर्भपात हो सकता है। 85% मामलों में गर्भावस्था के नुकसान के लिए यही कारण है। लेकिन किसी को असामान्य योनि डिस्चार्ज, गंभीर क्रैम्पिंग या असुविधा हो, तो उसे तुरंत डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए।

आई यू आई उपचार के लिए मेडीकवर फर्टिलिटी एक अच्छा विकल्प है।

मेडीकवर फर्टिलिटी यूरोप के सर्वश्रेष्ठ फर्टिलिटी क्लीनिकों में से एक है। यहाँ के डॉक्टर आधुनिक उपकरणों की सहायता से जाँच की प्रक्रिया करने में पूर्ण रूप से सक्षम हैं।

मेडीकवर फर्टिलिटी ने आई यू आई के कई सफल ट्रीटमेंट किए हैं जिनसे कई लोगों को माता-पिता बनने का सुख प्राप्त हुआ है। साथ ही मेडीकवर फर्टिलिटी में आपकी जानकारी पूर्ण रूप से गुप्त रखी जाती है। यदि आपको इस विषय से सबंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो आप इस नंबर पर +917862800700 संपर्क कर सकते हैं।