• Test Tube Baby in Hindi

    टेस्ट ट्यूब बेबी उन दंपत्तियों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है, जो संतान सुख से वंचित हैं, क्योंकि उन्हें इसके द्वारा संतान सुख मिल सकता है। हालांकि, अभी भी अधिकतर लोगों को पूरी तरह से इसकी जानकारी नहीं है की आख़िरकार टेस्ट ट्यूब बेबी क्या है? (What is Test Tube Baby in Hindi?) इन-विर्टो फर्टिलाइजेशन तकनीक से जन्मे बच्चे को टेस्ट ट्यूब बेबी (Test Tube Baby in Hindi) के नाम से जाना जाता है।
  • Donor Egg IVF in Hindi

    महिला की उम्र 40 वर्ष से अधिक होने पर वह बहुत से बदलावों का अनुभव करती है जैसे- चेहरे पर झुरिया, आंखों का कमजोर होना, बालों का गिरना या सफ़ेद होना आदि के साथ-साथ महिलाओं में प्रजनन क्षमता भी कम हो जाती है। इसलिए एक महिला की उम्र बढ़ने के साथ उसका माँ बन पाना मुश्किल होता चला जाता है। ऐसे में गर्भधारण के लिए आई वी एफ और डोनर एग के साथ आई वी एफ (Donor Egg IVF in Hindi) जैसी तकनीकें मौजूद है।
  • Recurrent Miscarriage in Hindi

    गर्भपात की समस्या एक बहुत ही आम बात है। लेकिन बार-बार गर्भपात होना (Bar Bar Garbhpat Hona) एक समस्या की बात है। किसी भी महिला के जीवन में गर्भपात की स्थिति वास्तव में एक बहुत ही दुखद स्थिति होती है। इसका प्रभाव उनकी मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर पड़ता है। इसलिए ऐसी स्थिति में सकारात्मक रहना बहुत ही महत्वपूर्ण है।
  • Male Infertility in Hindi

    किसी भी पुरुष के एक पिता बनने में असमर्थ होने को पुरुष बांझपन (Male Infertility in Hindi) कहा जाता हैं। बांझपन एक वह समस्या है, जिसमें दंपत्ति, एक वर्ष या उससे अधिक समय के प्रयास के बाद भी गर्भधारण करने में असमर्थ होते है। 90 प्रतिशत के करीब पुरुषों में इनफर्टिलिटी यानि बांझपन का कारण शुक्राणु की कमी और खारब क्वालिटी है। सीमेन यानि वीर्य में स्पर्म काउंट कम होता है, तो इससे महिला को गर्भधारण करने...
  • Female Infertility in Hindi

    महिला बाँझपन का अर्थ है कि महिलाओं में होने वाली बांझपन (Infertility in Hindi) की समस्या। विश्व भर में इनफर्टिलिटी की समस्या से जूझ रहे लोगों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती ही जा रही है। इनफर्टिलिटी की समस्या महिला और पुरुष दोनों को सामान रूप से प्रभावित करती है।
  • PCOS and Pregnancy in Hindi

    बांझपन की समस्या से पीड़ित लगभग एक-तिहाई महिलाओं में पीसीओएस की बीमारी पाई गई है। यह बांझपन के मुख्य कारणों में से एक है जिसके कारण उन्हें गर्भधारण होने में दिक्कते होती है। पीसीओएस को लेकर लोगों के बीच मिथक है की इस बीमारी के कारण महिला गर्भवती नहीं हो सकती हैं, वास्तव में इसके लिए उपचार मौजूद है जिनकी मदद से महिला का गर्भधारण हो सकता है।
  • Recurrent Miscarriage

    A number of pregnancy conceptions are generally abnormal and end in miscarriage. It is the most common complication of pregnancy. Recurrent miscarriage, the loss of three or more consecutive pregnancies, affects almost 1% of couples trying to conceive. It is usually associated with psychological stress and is often proved to be frustrating for both couple and fertility experts.
  • IVF Cost in Hyderabad

    Amongst all the Assisted Reproductive Technology (ART) for infertility, IVF (IN-Vitro Fertilization) is considered to be the most common and effective medical treatment today. It is the process in which the fertilisation takes place outside the body. Once the sperm and eggs are retrieved, they are fertilized in the lab, and the then formed embryo is transferred to the uterus to implant. Through this...
  • Male Infertility and IVF

    IVF, as an effective treatment of male infertility, was developed as a result of a discovery that relatively few sperms are required to achieve fertilization that takes place outside the body. With improved methods in IVF, it became apparent that as long as lower concentrations of motile spermatozoa were obtained, IVF could be used for the treatment of male infertility. Moreover, the current...
  • Nil Shukranu Ke Karan

    पुरुषों में निःसंतानता के कारण शुक्राणु की खराब क्वालिटी, कम संख्या और निल शुक्राणु होता है। वीर्य में स्पर्म काउंट कम होने या निल शुक्राणु के कारण महिला के गर्भधारण होने में समस्या आती है।